जानें क्या है मामला, भागलपुर में मनरेगा योजना के मजदूर बैंक जानें से कतरा रहे


भागलपुर: प्रमंडलीय आयुक्त दया निधान पांडेय ने सोमवार को डीएम व डीडीसी के साथ विकास से संबंधित योजनाओं की समीक्षा की. मनरेगा योजना की समीक्षा में पाया गया कि मानव दिवस सृजन का प्रतिशत भागलपुर जिला में पिछले बैठक के 78.51% से बढ़ कर 107.40%, जबकि बांका में 100.26% से घट कर 88.47% हो गया. जॉब कार्ड को आधार से जोड़ने का प्रतिशत भागलपुर में 57.7% से बढ़ कर 62.4% और बांका में 60.94% से बढ़ कर 65.77% हो गया, लेकिन आधार से जोड़े जाने के प्रतिशत में वृद्धि के बावजूद आधार आधारित भुगतान में दोनों ही जिलों में कमी आयी है.

श्रमिकों को किया जाएगा जागरूक

भागलपुर जिला में यह 12.49% से घट कर 11.76% और बांका जिला में 15.71% से घट कर 13.68% हो गया. इस संबंध में भागलपुर की उपविकास आयुक्त प्रतिभा रानी ने बताया कि आधार आधारित भुगतान के लिए बैंक द्वारा केवाइसी किया जाता है. केवाइसी की प्रक्रिया में लाभार्थी के मोबाइल नंबर पर ओटीपी जाता है. इसके लिए लाभार्थी को बैंक जाना पड़ता है और मजदूर बैंक जाने में रुचि नहीं लेते, जिसके कारण इसमें गिरावट आयी है. आयुक्त ने आधार आधारित भुगतान के लिए श्रमिकों को प्रोत्साहित व जागरूक करने कहा.

भुगतान में विलंब के मामले बढ़े

मनरेगा अंतर्गत भुगतान में विलंब का प्रतिशत पिछले बैठक की तुलना में 14.59% से बढ़ कर 16.20% और बांका जिला में 5.4% से घट कर 4.7% हो गया है. भुगतान में विलंब को दूर करने के लिए आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दिया गया. जॉब कार्ड सत्यापन का प्रतिशत भागलपुर में 39.2% से बढ़ कर 60.49% और बांका में 52.17% से बढ़ कर 67.08% हो गया.

आवास योजना के स्वीकृत खाते में कमी

प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) की समीक्षा में पाया गया कि स्वीकृत एकाउंट की संख्या दोनों जिलाें में कम हुई है. इस पर भागलपुर की उपविकास आयुक्त ने बताया कि आधार सीडिंग हो रहा है. आधार सीडिंग के बाद पुनः एकांउट वैरिफिकेशन होता है, जिसके कारण इसमें कमी आयी है. पूर्ण आवासों की संख्या भागलपुर में पिछले बैठक की अपेक्षा 1268 की वृद्धि के साथ 66,299 और बांका में 1706 की वृद्धि के साथ 98709 हो गया है. आवास प्लस में पूर्ण आवासों की संख्या में भागलपुर में 8013 और बांका में 5983 की वृद्धि हुई है. इंदिरा आवास योजना में पूर्ण आवासों की संख्या में वृद्धि हुई है. बांका जिला में यह प्रगति बहुत ही अच्छी है.

सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की प्रगति अच्छी

सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट में भागलपुर जिले में 1877 स्वच्छता कर्मी व 65 स्वच्छता पर्यवेक्षक प्रशिक्षित हैं. बांका जिला में स्वच्छताकर्मी की 1247 की आवश्यकता के विरुद्ध 142 लंबित है. भागलपुर जिला में अच्छी स्थिति है. जल-जीवन-हरियाली में भागलपुर में कुल 642 अतिक्रमित जल संचयन संरचनाओं में से 636 और बांका जिला में 398 जल संचयन संरचनाओं में से 380 अतिक्रमणमुक्त हैं. पीएम किसान सम्मान में कृषि समन्वयक, अंचलाधिकारी और एडीएम के स्तर पर रिजेक्शन की संख्या बहुत ही ज्यादा है. रिजेक्शन की समीक्षा करने का निर्देश दिया गया. पंचायत सरकार भवन में लंबित कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने का निर्देश दिया गया. मुख्यमंत्री मातृ वंदना योजना में अपलोडिंग की स्थिति दोनों ही जिलों में अच्छी है. मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना में लाभुकों की संख्या भागलपुर जिला में लक्ष्य का 59% और बांका जिला में लक्ष्य का 64.98% है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.