कार्रवाई से खनन से जुड़े कारोबारियों में हडक़ंप, ऊना में ईडी की दबिश


आईएफएस नीरज कुमार की अध्यक्षता में परियोजना प्रबंधन इकाई त्रिपुरा जाइका वानिकी परियोजना के नौ सदस्यों के प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को पॉटरहिल समरहिल में हिमाचल प्रदेश जाइका वानिकी परियोजना मुख्यालय का दौरा किया। प्रतिनिधिमंडल हिमाचल प्रदेश की जाइका गतिविधियों को जानने के लिए एक सप्ताह के दौरे पर हैं। जाइका परियोजना निदेशक राजेश शर्मा ने बताया कि वानिकी परियोजना ने आगंतुकों को परियोजना के तहत हिमाचल राज्य में की जा रही गतिविधियों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 330 से अधिक वीएफडीएस (ग्राम वन विकास समितियां) और 568 स्वयं सहायता समूह परोयोजना के अंतर्गत कार्य कर रहे हैं। उन्होंने प्रतिनिधिमंडल को परियोजना की सफलता की कहानियों के साथ वन्यजीव प्रबंधन, अग्नि सुरक्षा, ड्रोन प्रौद्योगिकी के उपयोग, अनुसंधान गतिविधियों, जड़ी-बूटी सेल, पौधरोपण, नर्सरी में सुधार और आय सृजन गतिविधियों की स्थिति के बारे में जानकारी साझा की।

त्रिपुरा के प्रतिनिधिमंडल ने त्रिपुरा में सतत जलग्रहण वन प्रबंधन परियोजना के तहत की जा रही गतिविधियों की जानकारी साझा की। बाद में प्रतिनिधिमंडल ने शिमला वन प्रभाग के पनेश का दौरा किया और सदस्यों के साथ बातचीत की। नीरज कुमार ने वीएफडीएस और एसएचजी के प्रयासों की सराहना की, विशेष रूप से महिलाओं की भूमिका, जिन्होंने आय सृजन गतिविधियों जैसे चीड़ से बने उत्पाद जिनमें कमाई की बड़ी संभावना है इत्यादि के बारे में बताया। प्रतिनिधिमंडल ने राज्य में परियोजना को सफलतापूर्वक बनाने के लिए राज्य सरकार, हिमाचल प्रदेश की परियोजना प्रबंधन इकाई, समुदायों और लाभार्थी के समन्वित प्रयासों की बी सराहना की। इस दौरे के दौरान प्रतिनिधिमंडल हिमाचल में परियोजना की प्रगति से खुद को परिचित कराने के लिए सुकेत, मंडी, कुल्लू और वन्य जीव विभाग की फील्ड गतिविधियों का भी दौरा करेगा।

जिला ऊना में प्रवर्तन निदेशालय की टीमों ने दो स्थानों पर दबिश दी है। प्रवर्तन निदेशालय की एक टीम ने ऊना पुलिस थाना के तहत गांव चड़तगढ़ में एक घर में छापामारी की। वहीं, हरोली पुलिस थाना के तहत पड़ते जननी में ईडी ने एक क्रशर यूनिट पर रेड की है। प्रवर्तन निदेशालय की यह दोनों टीमें खनन से जुड़े मामलों की जांच के लिए ऊना पहुंची बताई जा रहा है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार मोहाली से करीब दस अलग-अलग टीमें सोमवार सुबह रवाना हुई थी, जिन्होंने पंजाब और हिमाचल में विभिन्न स्थानों पर दबिश देकर छानबीन की है। ईडी की कार्रवाई से दिनभर जिला में खनन कारोबार में लगे लोगों में हडक़ंप मचा रहा। जानकारी के अनुसार प्रवर्तन निदेशालय की दो टीमों ने ऊना जिला के दो स्थानों पर दबिश देकर खनन से जुड़े मामलों में जांच पड़ताल की। दोनों टीमों ने अपने अपने स्थान पर दबिश देकर घर और क्रशर यूनिट में तलाशी अभियान चलाया वहीं घर के सदस्यों और क्रशर यूनिट पर मौजूद लोगों से लंबी पूछताछ भी की है।

दोनों स्थानों पर सुबह करीब आठ बजे प्रवर्तन निदेशालयों की टीमें पहुंच गई थी और बाद दोपहर तक उनकी कार्रवाई चलती रही। जिला ऊना में दो स्थानों पर हुई छापामारी खनन से जुड़े मामलों को लेकर ही बताई जा रही है, लेकिन इन दोनों स्थानों पर टीमों के हाथ क्या कुछ लगा है इस बारे प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी मीडिया के सामने कुछ भी बोलने से बचते नजर आए। चड़तगढ़ स्थित घर में हुई छापामारी के दौरान स्थानीय ग्राम पंचायत के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे। पंचायत के उपप्रधान भूषण दत्त भारद्वाज ने बताया कि उनके गांव में स्थित एक घर में ईडी की टीम पहुंची जो घर के अंदर ही जांच पड़ताल कर रही है। उन्होंने बताया कि फिलहाल ईडी की टीम के हाथ क्या लगा यही इस बारे उन्हें भी कोई जानकारी नहीं है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.