सड़कों पर 200 से ज्यादा गड्ढे, गड्ढों से रोजाना दो घंटे ट्रैफिक जाम


ठाणे के घोड़बंदर मार्ग (Ghodbunder Road) से यात्रा करना मानसून के बाद से ठाणेकर के लिए एक बड़ा सपना है। खराब सड़कों (Roads) के कारण दो घंटे के ट्रैफिक (Traffic) जाम का सामना करना पड़ रहा है। कापूरबावाड़ी से फाउंटेन होटल तक का रास्ता सबसे ज्यादा क्षतिग्रस्त है। इस पूरे मार्ग में से कुछ ठाणे और मीरा-भायंदर महानगरपालिका के, कुछ लोक निर्माण, कुछ मेट्रो परियोजना, महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास निगम और कुछ मुंबई महानगरपालिका क्षेत्र विकास प्राधिकरण के अधिकार क्षेत्र में आते हैं। आपस में समन्वय के अभाव में सड़क की मरम्मत अस्थाई रूप से ही की जा रही है। इस सड़क पर दो सौ से ज्यादा गड्ढे हो गए हैं और हर रोज गड्ढों (Potholes) को भरने का काम किया जा रहा है। लेकिन यह बात सामने आ रही है कि ट्रैफिक जाम को कम करने में कोई मदद नहीं मिल रही है।

आपको बतादें कि ठाणे में सड़कों पर हुए गड्ढो के चलते होने वाली लोगों की परेशानी कम नहीं हो रही है। घोडबंदर रोड पर हुए गड्ढों के चलते करीब तीन महीने से लोगों को आये दिन ट्रैफिक जाम में परेशान होना पड़ रहा है। इसके पीछे पीडब्ल्यूडी (लोक निर्माण विभाग) की लापरवाही सामने आई है। सड़क की मरम्मत के लिए कोई राशि आवंटित नहीं किए जाने का भी खुलासा हुआ है। मरम्मत के नाम पर लोक निर्माण विभाग द्वारा सिर्फ मरहम पट्टी की जा रही है। जिसे स्थानीय अधिकारियों ने इस बात को स्वीकार किया है। प्रतिदिन करीब 50 गड्ढे भरे जाते है और उतने ही गड्ढे फिर हो जाते हैं। वर्तमान में घोडबंदर रोड पर 200 से अधिक गड्ढे हैं। घोड़बंदर मार्ग पहले एमएसआरडीसी के अधीन था और सड़क की सारी जिम्मेदारी उन्हीं की थी। मार्च 2021 में कापूरबावाड़ी से फाउंटेन होटल तक की सड़क एमएसआरडीसी ने पीडब्ल्यूडी (लोक निर्माण विभाग) को हस्तांतरित कर दी। फाउंटेन होटल के करीब का सर्विस रोड भी अक्टूबर 2021 को मीरा भायंदर महानगरपालिका के लोक निर्माण विभाग को सौंप दिया गया।

सड़क की मरम्मत के लिए खर्च का कोई प्रावधान नहीं

डेढ़ साल से घोडबंदर रोड का अधिकांश हिस्सा लोक निर्माण विभाग के पास आने के बावजूद आज तक सड़क की मरम्मत के लिए खर्च का कोई प्रावधान नहीं किया गया और न ही उसके लिए कोई निविदा जारी की गयी है। अधिकारियों के अनुसार खर्च का कोई प्रावधान नहीं होने से सड़क की मरम्मत के नाम पर महज अस्थाई उपाय किया जा रहा है जो की कारगर नहीं है। ठाणे महानगरपालिका द्वारा बरसात पूर्व गड्ढों को भरने के संबंध में संबंधित विभाग को पत्र भेजने के बावजूद पिछले चार-पांच महानगरपालिका से कोई काम नहीं हुआ है। इस संदर्भ में समन्वय अभियंता सुरेंद्र शेवाले को संपर्क करने पर उन्होंने फोन नहीं उठाया। जबकि ठाणे महानगरपालिका के नगर अभियंता प्रशांत सोनाग्रा ने कहा कि महानगरपालिका की तरफ से इन सड़कों के मरम्मतीकरण के लिए संबंधित विभाग को पत्र भेजा गया है।

न्यूज़क्रेडिट: enavabharat



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.