लॉरेन्स बिश्नोई गैंग के लिए बना नया प्लान, पढ़े पूरी खबर


दिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने राजधानी से राजेश बवाना गैंग के 4 शूटरों को गिरफ्तार किया है. इस दौरान पूछताछ में पुलिस को पता चला कि गोल्डी बराड़ कनाडा में बैठे-बैठे यहां पर लॉरेन्स बिश्नोई गैंग के लिए गैंगस्टर की भर्ती कर रहा था. गिरफ्तार हुए 4 लोगों में से एक के साथ वो लगातार संपर्क में था.
गिरफ्तार गैंगस्टर्स में एक रैपर भी
दिल्ली पुलिस ने जिन 4 शूटर को गिरफ्तार किया है, उनमें एक मशहूर रैपर भी शामिल है. ये शूटर नीरज बवाना गैंग के लोगों को निशाना बनाने वाले थे. गैंगस्टर्स की पहचान हिमांशु, नितिन, अभिषेक उर्फ शेखू और अभिलाषा पोटा के तौर पर की गई है. इसमें अभिषेक उर्फ शेखू लगातार कनाडा में बैठे गोल्डी बराड़ के संपर्क में बना हुआ था. जबकि अभिलाषा पोटा एक रैपर है.
एक हुए राजेश बवाना और गोल्डी-लॉरेन्स
दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि राजेश बवाना ने हाल ह में गोल्डी बराड़ और लॉरेन्स बिश्नोई के साथ हाथ मिलाया है. दरअसल राजेश बवाना और नीरज बवाना गैंग के बीच छत्तीस का आंकड़ा है. राजेश बवाना, नीरज बवाना गैंग के कुछ लोगों को ठिकाने लगाना चाहता था, इसलिए उसने लॉरेन्स बिश्नोई से हाथ मिलाया था.
20 साल से कम उम्र के लड़कों की भर्ती
पुलिस के मुताबिक गोल्डी बराड़ कनाडा में बैठे-बैठे यहां लॉरेन्स बिश्नोई गैंग के लिए गैंगस्टर्स की भर्ती कर रहा था. इसके लिए उसने 20 साल से कम उम्र वाले शूटर्स को ही तरजीह दी थी.
पुलिस को लगी साजिश की भनक
दिल्ली पुलिस को राजेश बवाना के प्लान की भनक लग गई थी. इसलिए उसके 4 शूटर्स को वजीरपुर इलाके से उस वक्त गिरफ्तार किया, जब वो नीरज बवाना गैंग के सदस्यों को मारने जा रहे थे. आरोपियों के पास से पुलिस को तीन अर्थमैटिक पिस्टल और 20 जिंदा कारतूस मिले हैं. गैंगस्टर राजेश बवाना के गैंग में अभी कुछ दिन पहले ही हरियाणा के झुंझुनू में डकैती की एक वारदात को अंजाम दिया था. डकैती का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया था. इस डकैती में हिमांशु और अभिषेक शामिल थे. इसमें करीब 35 लाख रुपये की लूट को अंजाम दिया गया था, ताकि इस पैसे से वो नीरज बवाना गैंग के लोगों को मार सके.
न्यूज़ क्रेडिट: आज तक



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *