5 लाख के नकली नोट के साथ तस्कर गिरफ्तार, मशीन से घर में होती थी छपाई


पूर्णिया। बिहार के पूर्णिया में नकली नोट के कारोबार का खुलासा हुआ है। पूर्णिया की जानकीनगर पुलिस ने भारी मात्रा में नकली नोट बरामद किया। इसके साथ ही नकली नोट छापने का दो प्रिंटर और मशीन भी पकड़ा गया है। पुलिस ने इस केस में पांच तस्करों को भी गिरफ्तार किया है। ये तस्कर जानकीनगर थाना के चोपड़ा बाजार में कपड़े की एक दुकान के पीछे नकली नोट छापने का कारोबार करते थे। कयास लगाया जा रहा है कि नगर निकाय चुनाव में खपत करने के लिए ये नकली नोट और शराब का कारोबार इस इलाके में धड़ल्ले से चल रहा है। वही एसपी दयाशंकर ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि कुछ लोग जानकीनगर से नकली नोट की बड़ी खेप लेकर पूर्णिया आ रहे हैं। सूचना मिलते ही बनमनखी और जानकीनगर पुलिस के अलावे जिला तकनीकी प्रभारी पंकज आनंद जानकीनगर पहुंचे। बॉर्डर इलाके को सील कर जब जांच की गई तो एक बाइक से चार लाख 91 हजार रुपए का नकली नोट बरामद हुआ। ये नोट 100-100 का था और करीब 50 गड्डियां बरामद हुईं।

वही जब दोनों को गिरफ्तार कर जब पूछताछ की गई तो पता चला कि चोपड़ा बाजार में कपड़े की एक दुकान में नकली नोट छापने का कारोबार चल रहा है। जिसके बाद पुलिस ने वहां भी छापामारी कर कुल 5 फेक करेंसी तस्करों को गिरफ्तार किया। जानकारी के अनुसार, एसपी ने कहा कि ये सभी अपराधी खुद नोट छापते थे और इसको बाजार में खपाते भी थे। इससे पहले भी इन लोगों ने करीब तीन लाख रूपये छापकर उसे बाजार में खपा दिया था। एसपी ने बताया कि 5 लाख रुपया को वो लोग 2 लाख में बेच देते थे। इससे उन्हें अच्छी आमदनी होती थी। इस फेक करेंसी को ये लोग ग्रामीण बाजारों में ही खपाते थे। एसपी ने बताया कि मधुबनी में शराब भी पकड़ा गया है और यहां फेक करेंसी मिली है। चुनाव को लेकर भी इसके लिंक को देखा जा रहा है। फिलहाल सभी मामलों की जांच की जा रही है। इस मामले में गिरफ्तार अभियुक्तों में मुख्य रूप से नीतीश कुमार, गणेश कुमार, सुभाष शर्मा, अमित शाह और मोहम्मद जैनुल शामिल थे।

न्यूज़ क्रेडिट: amritvarshanews



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *