पॉलिटेक्निक के 3 छात्रों ने खाया जहर, एक की मौत


बुलंदशहर। बुलंदशहर में पॉलिटेक्निक में फेल होने पर 3 छात्रों ने जहर खा लिया। इलाज के दौरान एक छात्र की मौत हो गई। वहीं, दो की हालत गंभीर है। छात्रों के परिजनों ने इसके लिए कॉलेज प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने सीएम पोर्टल पर और डीएम से शिकायत की है।यहां खुर्जा के धरपा का हर्ष राघव, नरेन्द्रपुर का कुलदीप सिंह और एक अन्य छात्र इलेक्ट्रॉनिक से थर्ड इयर के छात्र थे। 20 सितंबर को कॉलेज का रिजल्ट आया। इसमें हर्ष राघव, कुलदीप सिंह और तीन अन्य छात्र फेल थे। सभी को प्रेक्टिकल में अनुपस्थित दिखाया गया था। फेल होने से आहत छात्र हर्ष राघव, कुलदीप सिंह और एक अन्य ने अपने घर पर शुक्रवार दोपहर को जहर खा लिया। परिजन तीनों को लेकर सीएचसी पहुंचे, जहां से तीनों को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। परिजन तीनों को नोएडा के यथार्थ अस्पताल में भर्ती कराया, जहां देर शाम हर्ष राघव की मौत हो गई।
जबकि कुलदीप और तीसरे छात्र की हालत गंभीर है। मृतक छात्र हर्ष राघव के परिजन सुनील कुमार ने बताया, “कॉलेज प्रबंधन प्रति प्रेक्टिकल 10 हजार रुपए वसूलता है। मेरे बेटे ने कॉलेज प्रबंधन को पैसे देने से इनकार कर दिया था। इस पर कॉलेज प्रबंधन ने प्रेक्टिकल में अनुपस्थित दिखाकर फेल कर दिया, जबकि बेटा अन्य में पास था। कॉलेज की मनमानी से तंग आकर बेटे ने शुक्रवार को जहर खा लिया, जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। ” कॉलेज के एक छात्र ने बताया, “कॉलेज प्रबंधन प्रेक्टिकल में पास करने के नाम पर 10-10 हजार रुपये की वसूली एक प्रेक्टिकल पर करता है। यह मनमानी खुलेआम की जाती है। विरोध करने पर छात्रों से अनुपस्थित दिखाकर फेल कर दिया जाता है। इस तरफ न जिला प्रशासन का ध्यान है और न ही शिक्षा विभाग का।”कॉलेज की प्रिंसिपल मंजू बंसल ने आरोप को निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि छात्र प्रेक्टिकल में अनुपस्थित थे। इस कारण से फेल हो गए। प्रेक्टिकल के नाम वसूली का आरोप गलत है। जिलाधिकारी चंद्रप्रकाश सिंह ने बताया कि मामले की शिकायत पर जांच शुरू करा दी गई है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। मामला गंभीर है, किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *