सरकारी टीचर को बजरी से भरे ट्रैक्टर ने मारी टक्कर


अलवर के तिजारा में टोल ब्लॉक से कुछ ही दूरी पर सोमवार की सुबह करीब साढ़े पांच बजे एक सरकारी शिक्षक को अवैध खनन से लदे ट्रैक्टर ने टक्कर मार दी। ट्रैक्टर का अगला बंपर पेट में फंसा हुआ था। शिक्षिका को गंभीर हालत में अलवर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उसका इलाज चल रहा है। शिक्षक तिजारा के बिजलहेड़ा गांव की रहने वाला है। वर्तमान में उनकी ड्यूटी उंडू, बाड़मेर में है।

शिक्षक सुबह बाड़मेर से आया

शिक्षक जमशेद अली ने बताया कि उसकी ड्यूटी बाड़मेर के अंदू में है। इसे 2013 में पेश किया गया था। तभी से बाड़मेर में कार्यरत हैं। वह सोमवार सुबह ही बाड़मेर से अलवर आया था। अलवर जंक्शन से रोडवेज बस द्वारा तिजारा पहुंचें। वहां से वह अपने भतीजे की बाइक पर गांव के लिए निकला। कुछ दूर चलने के बाद वह अवैध खनन से लदी ट्रैक्टर-ट्राली की चपेट में आ गया। ट्रैक्टर का अगला बंपर पेट में जा घुसा था। शिक्षक को तिजारा से अलवर रेफर कर दिया गया था।

पेट में कई टांके लगे हैं

अलवर जिला अस्पताल के नर्सिंग स्टाफ ने बताया कि शिक्षिका के पेट में 10 टांके लगे हैं. दो यूनिट ब्लड भी चढ़ाया जा चुका है। हालांकि अब शिक्षिका की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। परिजनों ने बताया कि तिजारा में अवैध खनन ट्रैक्टर व डंपर आज भी दिन-रात चलते हैं। पुलिस प्रशासन पर नियंत्रण न होने के कारण आम लोगों को मुश्किलों में जीना पड़ रहा है।

न्यूज़ क्रेडिट: aapkarajasthan



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *